You are here

भारतीय मूल के दीपक राज बने आस्ट्रेलिया के पहले MLA, हाथ में “भगवत गीता ” रखकर ली शपथ

भारत देश के लोग अपनी अलग पहचान और अपनी अलग संस्कृति से पुरे विश्व में अलग पहचान बनाये हुए हैं ,,भारत के लोग किसी भी देश विदेश में रहते है पर वे अपना धर्म और अपनी संस्कृति कभी नहीं भूलते ,जिसकी वजह से भारतीयों को अलग तरह का सम्मान मिला हुआ है इसी बात को आगे ले जाते हुए उत्तरप्रदेश में पैदा हुए दीपक राज गुप्ता जब आस्ट्रेलिया में विधायक MLA बन गये चुनाव में जित हासिल करके ,उसके पश्चात् मोका आया शपथ लेने का तो वे ये नहीं भूले की वे एक हिन्दू हे और गीता ग्रन्थ उनके धर्म में क्या स्थान रखती है इसलिए दीपक जी ने अनुमति लेकर गीता पर हाथ रखकर पद व् गोपनीयता की शपथ ली.

दीपक गुप्ता Gungahlin विधानसभा सिट से चुनाव जीतकर वहा की विधानसभा में प्रवेश किया ,इससे पहले 2014 में वे इसी सिट से चुनाव लड़े थे पर वे हार गये थे और तीसरे नम्बर पर रहे थे लेकिन वे निराश होकर नही बेठे और इस बार फिर उसी सिट से चुनाव लड़ा और जित गये

जब दीपक से वहा की मिडिया ने उनसे प्रश्न किया की आपके मन में ये ख्याल केसे आया कि गीता पर हाथ रखकर शपथ लू,,तब उन्होंने कहा की में जिस सिट से चुनाव जीता हु वहा हिन्दू समुदाय के लोग ज्यादा हे जिसकी वजह से उन्होंने मुझे वोट दिए और हम हिन्दू भी हे तो क्या ने में इन सभी मतदाताओ के सम्मान के लिए गीता हाथ में रखकर शपथ लू

जब मिडिया ने उनसे ये पुचा की दुसरे देश में आकर रहने वालो के लिए लोगो को क्या मुश्किलों का सामना करना पड़ता है तब उन्होंने कहा की अगर कोइ एसा सोचता हे तो पहले वो उस देश के बारे में पूरी जानकारी निकल ले,क्या काम करने आ रहे हे उस काम कि क्या स्थिति है , वह का खान पान ,,रहन सहन के बारे में पूरी जानकारी ले कर भी ये फेसला ले नहीं तो बहुत मुश्किलों का सामना करना पड सकता है

आपकों यहाँ एक जानकारी देना बहुत जरुरी है की दीपक गुप्ता जब वे भारत मे चंडीगड़ में रहते थे तब वे वहां एक रेस्टोरेंट में वेटर का काम करते थे ताकि परिवार पाल सके दीपक गुप्ता 1989 में आष्ट्रेलिया आये थे कई वर्षो से वहां असफल रहे लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी ,,और आख़िरकार वह एक सफल इन्सान बन गये.

Leave a Reply

Top
shares