You are here

सारी चीजो का एक-एक निवाला थाली के बाहर क्यों रखते है ? क्या हे इसके पीछे का वैज्ञानिक कारण?

सनातन धर्म की वैज्ञानिकता….
बचपन में दादी को हमेशा देखता था,खाना खाते वक़्त पहले सारी चीज़ों का एक निवाला निकालकर थाली के बाहर रखती थी और थाली के बाहर गोल घुमाकर पानी छोड़कर हाथ जोड़ती थी और बाद में खाना खाती थी।

इसके पीछे के संस्कार आज पता चलते है,लेकिन उस वक़्त बचपन में पता नही होता था कि ये पंचमहाभूत और खुद की उदराग्नि का नैवेद्य होता है।

एकबार ऐसे ही दादी को कारण पूछा,उसने अभी जो पता है वो तो बताया ही और आगे बताया “पहले घर मिटटी के हुआ करते थे, कीड़े चींटियों से भरा रहता था, खाना कहते वक़्त थाली में न आये इसलिए पानी घुमाना, वो पानी की रेखा उनकी लक्ष्मणरेखा।” फिरपूछा और वो अन्न?उन्होंने कहा, ” अरे …पंचमहाभूत थोड़ी अन्न खायेंगे? अन्न की आशा में थाली की तरफ आनेवाले चींटी और कीड़ो को होता है वो नैवेद्य ।”

हर जान में पंचमहाभूत होता है। उन्हें भी अन्न देना है ये ,हमारे संस्कार”.

Leave a Reply

Top
shares